दिल्ली में बर्ड फ्लू के खौफ के चलते मंडी और पार्क बंद

दिल्ली में बर्ड फ्लू के खौफ के चलते मंडी और पार्क बंद

दिल्ली में बर्ड फ्लू के खतरे को देखते हुए गाजीपुर मुर्गा मंडी को 10 दिन के लिए बंद कर दिया गया है। सीएम अरविंद केजरीवाल ने शनिवार को कहा कि अगले 10 दिनों तक दिल्ली में किसी भी जिंदा पक्षी के आयात पर रोक रहेगी। दूसरी ओर राज्य के पशुपालन विभाग ने चार बड़े पार्कों को जनता के लिए बंद कर दिया है।

पशुपालन विभाग की ओर से अभी तक दिल्ली से 104 पक्षियों के नमूने लेकर उन्हें जालंधर की लैब में भेजा है। माना जा रहा है 12 जनवरी तक इन नमूनों की रिपोर्ट आनी शुरू हो जाएगी। दिल्ली सरकार ने एक 24 घंटे हेल्पलाइन की भी शुरुआत की है। पक्षियों मरने या अलग व्यवहार की सूचना देने के लिए 011-23890318 पर कॉल की जा सकती है।

दिल्ली में नहीं है कोई मामला
मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि एहतियात के तौर पर दिल्ली में कदम उठाए गए हैं, हालांकि दिल्ली में अभी तक एक भी मामले की पुष्टि नहीं हुई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली के सभी जिलों में डीएम के नेतृत्व में सर्विलांस टीम बनाई गई हैं। यह टीमें पॉल्ट्री फार्म, छोटी-बड़ी दुकानों, बड़े पार्कों व तालाबों पर नजर रख रही हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि दिल्ली किसी भी आपदा से निपटने के लिए तैयार है।

50 पक्षियों की हो चुकी है मौत
दिल्ली में तीन दिनों में 50 से अधिक पक्षियों की मौत हो चुकी है। शनिवार को संजय झील में 10 बत्तखों की मौत हुई है। दिल्ली के सभी जिलों में बर्ड फ्लू को लेकर हाई अलर्ट जारी कर दिया गया है। दिल्ली के मयूर विहार फेज-3 के एक पार्क में 17 कौवे, द्वारका के डीडीए पार्क में दो और पश्चिम जिले के हस्तसाल गांव में 16 कौवे मृत पाए जा चुके हैं। जसोला विहार के डीडीए पार्क में बीते तीन दिनों में 24 कौवे मृत पाए गए हैं। दिल्ली के अलग-अलग इलाकों से जो सैंपल लिए गए हैं, उन्हें राष्ट्रीय उच्च सुरक्षा पशु रोग संस्थान, भोपाल भी भेजा जाएगा।

आम जनता के लिए बंद हुए ये चार पार्क
संजय झील, द्वारका सेक्टर-9, हस्तसाल पार्क और मयूर विहार फेज-3 के ए-2 सेंट्रल पार्क में आम जनता के प्रवेश पर पाबंदी लगा दी गई है। यहां बड़ी संख्या में कौवे मृत पाए गए हैं।

फेसबुक पेज को लाइक करना बिल्कुल न भूले