किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम बनाने की व्यवस्था है किसान अध्यादेश-आशीष द्विवेदी 

किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम बनाने की व्यवस्था है किसान अध्यादेश-आशीष द्विवेदी 
रायबरेली--शहर कांग्रेस के निवर्तमान महासचिव व व्यापारी नेता आशीष द्विवेदी ने केंद्र सरकार के किसान अध्यादेश को किसान विरोधी करार देते हुवे अध्यादेश को किसानों के साथ पूंजीपतियों के लिए किया गया षड़यंत्र बताया व कहा कि किसानों को पूंजीपतियों का गुलाम बनाने की व्यवस्था है किसान अध्यादेश। 
व्यापार मंडल जिलाध्यक्ष व शहर कांग्रेस महासचिव श्री द्विवेदी ने वर्तमान सरकार को कटघरे में खड़ा करते हुवे उस पर किसान-मज़दूर-नौजवान विरोधी सरकार होने का आरोप लगाया व कहा कि लोंगों की भावना से खेलना वर्तमान सरकार का स्वभाव, जिसे देश के जनमानस को समझना होगा। उन्होंने कहा कि अडानी-अम्बानी के हाथों बिकी मोदी सरकार देश से गरीबी नही, गरीब हटाने पर आमादा है। श्री द्विवेदी ने कहा कि महंगाई-भ्रष्टाचार- बेरोजगारी-महिला उत्पीड़न-व्यापारी सुरक्षा-बाल मजदूरी-कालाधन आदि मुद्दों पर फेल सरकार लोंगों का ध्यान भटकाकर थोथे राष्ट्रवाद-जातिवाद व धर्मवाद पर केंद्रित कर देश को पुनः अंग्रेजी व्यवस्था का गुलाम बनाने पर आमादा है पर देश की आज़ादी में प्राणों की आहुति देने वालों की संतानें अपने पूर्वजों का बलिदान ज़ाया नही जाने देंगी। 

उन्होंने कहा कि संघर्ष का हमारा इतिहास है जो हमे हर जुल्म से टकराने की प्रेरणा देता है और हम लड़ेंगे, जेल जाएंगे किन्तु वर्तमान सरकार की जनविरोधी नितियों का विरोध करते रहेंगे। उन्होंने कहा कि यदि मोदी सरकार वाकई किसानों का उत्थान चाहती है तो उसे किसान भाइयों की मांग बिना शर्त स्वीकार कर लेनी चाहिए, किन्तु उद्योग पतियों के हाथों बिकी सरकार से देश का किसान यह उम्मीद नही कर पा रहा। उन्होंने कहा कि अध्यादेश व किसानों के बीच उत्पन्न गतिरोध की जिम्मेवार सरकार है जिसने किसानों से रायशुमारी का प्रयास नही किया। 

फेसबुक पेज को लाइक करना बिल्कुल न भूले