अमेरिका से स्वदेश लौटे डॉ.महेंद्र भंडारी ने सीईएल टीम के साथ जाना उद्यमियों का हाल

अमेरिका से स्वदेश लौटे डॉ.महेंद्र भंडारी ने सीईएल टीम के साथ जाना उद्यमियों का हाल
साइकिल यात्रा के पहले दिन आधा दर्जन से अधिक ग्राम पंचायतों का किया भ्रमण

उद्यमियों से मुलाकात कर जाना निवेश एवं व्यवसायीकरण 

शिवगढ़,रायबरेली-- अमेरिका से स्वदेश लौटे पद्म श्री अवार्ड से सम्मानित प्रसिद्ध भारतीय सर्जन डॉ.महेंद्र भण्डारी ने कम्युनिटी एम्पावरमेंट लैब 'सक्षम शिवगढ़'  के संस्थापक डॉ.विश्वजीत कुमार, सीईएल की 'सीईओ' मुख्य कार्यकारी एवं वैज्ञानिक आरती कुमार सहित कम्युनिटी एम्पावरमेन्ट लैब टीम के साथ साइकिल 'उद्यमी मिलन' यात्रा निकालकर ऐसे उद्यमियों से मुलाकात की जिन्होंने विभिन्न चुनौतियों का सामना करते हुए अपना स्वयं का व्यवसाय स्थापित किया और वे उसका विस्तार करने की योजना बना रहे हैं। मुलाकात के दौरान श्री भण्डारी ने उद्यमियों से जाना और समझा कि कैसे उन्होंने अपने व्यवसाय की योजना बनाई और अपने मान सम्मान एवं स्वाभिमान को बरकरार रखते हुए किस प्रकार की चुनौतियों का सामना करके  अपने व्यवसाय को स्थापित किया, और आगे किस प्रकार से अपने व्यवसाय का विस्तार करना चाहते हैं। इसी के साथ सम्पूर्ण रसद, आर्थिक एवं प्रशासनिक व्यवस्था,लाइसेन्स व पैकेजिंग एवं  मार्केटिंग व्यवस्था के विषय में विस्तार से जाना और समझा। श्री भण्डारी ने शिवगढ़ राजमहल 'महेश विलास पैलेस' में स्थापित कम्युनिटी एम्पावरमेंट लैब प्रांगण से सीईएल टीम के साथ अपनी 2 दिवसीय साइकिल यात्रा की शुरुआत करते हुए यात्रा के पहले दिन सबसे पहले शिवगढ़ क्षेत्र के दामोदर खेड़ा मजरे शिवली स्थित मातृछाया पानी फिल्टर के मालिक अतुल से मुलाकात की अतुल ने बताया कि पिछले 15 वर्षों से वे अपना स्वयं का व्यवसाय कर रहे हैं,जिसके बल पर उन्होंने समाज में मान सम्मान एवं एक नया मुकाम हासिल किया। जिसके पश्चात लवलेश साइकिल स्टोर, दिव्या ब्यूटी पार्लर और स्टिचिंग सेन्टर की प्रोपाटर मधू त्रिवेदी से मिले जिन्होंने बताया कि पिछले एक दशक से वे ब्यूटी पार्लर चलाने के साथ ही युवतियों को ब्यूटीशियन स्किल और स्टिचिंग स्किल सिखाकर उनका भविष्य सवांर रही है। इसी के साथ श्री भण्डारी ने ढोढ़वापुर,कुम्भी और कोटवा की यात्रा कर करीब आधा दर्जन से अधिक उद्यमियों एवं ग्रामीणों से मुलाकात की इस दौरान श्री भण्डारी ने कुम्भी में हड्डी रोग से परेशान 2 वर्षीय बच्चे को देखकर उसके परिजनों को उपचार के उपाय बताएं। वहीं कोटवा स्थित निवर्तमान संघ अध्यक्ष विनोद सिंह के आवास पर ग्रामीणों के साथ बैठक कर खेती बाड़ी एवं एवं ग्रामीण रोजगार के विषय में जाना और समझा। विदित हो कि जोधपुर राजस्थान की पावन धरती पर 24 दिसम्बर सन् 1945 को जन्मे डॉ.महेंद्र भण्डारी ने क्रिश्चियन मेडिकल कॉलेज वेल्लोरे 'यूनिवर्सिटी ऑफ राजस्थान' से मेडिकल शिक्षा प्राप्त कर अपने कैरियर व राष्ट्र एवं समाजसेवा की शुरुआत की थी। वर्तमान समय में अमेरिका में रह रहे डॉ.महेंद्र भण्डारी प्रसिद्ध भारतीय सर्जन हैं। जिन्होंने मूत्रविज्ञान, चिकित्सा प्रशिक्षण, अस्पताल प्रशासन, रोबोटिक सर्जरी और चिकित्सा नैतिकता की विशेषता में महत्वपूर्ण योगदान दिया है। उनके प्रयासों के लिए, उन्हें 2000 में भारत सरकार द्वारा पद्म श्री आवार्ड से सम्मानित किया गया था। श्री भण्डारी वर्तमान में डेट्रायट, एमआई में वॉटिकुटी यूरोलॉजी इंस्टीट्यूट में वरिष्ठ जैव-वैज्ञानिक और रोबोटिक सर्जरी अनुसंधान एवं शिक्षा निदेशक हैं। वे अंतर्राष्ट्रीय रोबोटिक यूरोलॉजी संगोष्ठी के संगोष्ठी समन्वयक रह चुके हैं। इसी के साथ वे 2010 से वट्टिकुट्टी फाउंडेशन के सीईओ भी हैं। श्री भण्डारी ने बताया कि उनकी सफलता के पीछे उनके माता-पिता और उनकी मेहनत - लगन एवं जीवन संगिनी सुषमा भण्डारी का बहुत बड़ा योगदान रहा है। उद्यमी साइकिल यात्रा में प्रमुख रुप से सीईएल की अग्रिमा आरती साहू,माधुरी,सीता, राजकुमार मौर्य,शिवमोहन सिंह,अशोक पाण्डेय आदि लोग मौजूद रहे।

फेसबुक पेज को लाइक करना बिल्कुल न भूले