सेक्रेटरी विहीन गांव में मृतक प्रमाण पत्र के लिए भटक रहे लोग

सेक्रेटरी विहीन गांव में मृतक प्रमाण पत्र के लिए भटक रहे लोग
रायबरेली  --- जिले में भले ही जिलाधिकारी वैभव श्रीवास्तव लगातार जिले के कोने कोने का भ्रमण कर के अधिकारियों को जनता के प्रति कर्तव्यनिष्ठ रहकर काम करने की नसीहत दे रहे हैं, मगर जिले के दीनशाह गौरा विकासखंड में डीएम साहब के इन आदेशों का कोई असर नहीं पड़ रहा है। आलम यह है कि लोग अपने दिवंगत परिजनों का मृतक प्रमाण पत्र बनवाने के लिए चार चार साल से विकासखंड के चक्कर लगा रहे हैं, मगर उनकी सुनने वाला कोई नहीं है। डलमउ तहसील क्षेत्र के थुलरई गांव निवासी राम सुमेर पुत्र द्वारिका की माता शांति देवी का स्वर्गवास 4 जून 2017 को हो गया था जिसके बाद से लगातार रामसुमेर व उनके भाई रामसागर विकासखंड के चक्कर लगाकर अपनी माता के मृत्यु प्रमाण पत्र बनवाने के लिए परेशान हैं, मगर उनको सिर्फ तारीख पर तारीख और आश्वासन पर आश्वासन ही मिलते हैं तीन वर्ष से अधिक समय बीत जाने के बाद अब तक रामसुमेर को अपनी माता का मृतक प्रमाण पत्र नहीं प्राप्त हो सका है।
 दो बार उन्होंने डलमऊ तहसील में संपूर्ण समाधान दिवस में भी अपनी शिकायत अधिकारियों को सुनाई, मगर हर बार मामले में जांच कर कार्यवाही का भरोसा दिलाया गया और  ग्राम विकास अधिकारी हंसराज सिंह के लिए खंड विकास अधिकारी द्वारा दो बार कार्यवाही करने के लिए भी लिखा गया मगर लापरवाह ग्राम विकास अधिकारी हंसराज सिंह द्वारा अब तक उक्त मृतक प्रमाण पत्र जारी करने के संबंध में कोई कार्यवाही नहीं की गई और अब वीडीओ  का तबादला भी हो गया है मगर रामसुमेर और उनके भाई रामसागर दर-दर की ठोकरें खाने के लिए मजबूर है। इस मामले में जब खंड विकास अधिकारी दीन शाह गौरा से दूरभाष पर वार्ता की गई तो उन्होंने बताया कि गांव में कोई भी सेक्रेटरी नहीं है, सेक्रेटरी की तैनाती के लिए प्रस्ताव भेजा गया है, कोई सेक्रेटरी तैनात होगा तो प्रमाण पत्र बनवा दिया जाएगा।

फेसबुक पेज को लाइक करना बिल्कुल न भूले