सुपाड़ी किलर और एसओजी व पुलिस की मुठभेड़, एक बदमाश घायल

सुपाड़ी किलर और एसओजी व पुलिस की मुठभेड़, एक बदमाश घायल
रायबरेली-रायबरेली जिले में सुपाड़ी किलरो से  एसओजी व पुलिस की मुठभेड़ हो गई जिसमें दोनों तरफ से हुई ताबड़तोड़ फायरिंग में एक बदमाश को गोली लगी वही उसका साथी पुलिस को चकमा देकर रफूचक्कर हो गया।  बताया जा रहा है कि जिस बदमाश को गोली लगी है वह काफी शातिर है और उस पर कई लूट के मामले भी दर्ज है और अभी हाल ही में सुपाड़ी लेकर एक पुस्तक व्यवसाई को भी गोलियों से भून दिया था जिसमे पुस्तक व्यवसाई को चार गोलियां लगी थी फिलहाल अभी भी पुस्तक व्यवसाई अभी भी जिन्दगी व मौत की जंग लड़ रहा है।

पुस्तक व्यसाई की हत्या की ली थी सुपाड़ी

 दरअसल बीती 21 दिसंबर को खीरो थाना क्षेत्र के सेमरी  चौराहा स्थित निहस्था के पास घर जा रहे पुस्तक व्यवसाई अज्ञात बदमाशों ने गोलियां चलाई थी और फरार हो गए थे । फायरिंग में पुस्तक व्यवसाई को चार गोलियां लगी थी। इस मामले में आरोपी पुलिस की गिरफ्त से बाहर चल रहे थे बदमाशो की धरपकड़ लगातार की जा रही थी। देर रात अचानक खीरों थाना क्षेत्र निहस्था मार्ग पर हरिपुर के पास वाहन चेकिंग अभियान के दौरान जब पुलिस ने मोटर साइकिल पर सवार युवकों को रोका तो उन्होंने फायरिंग करना शुरू कर दिया पुलिस ने अपनी आत्मरक्षा के लिए फायरिंग की जिसमें पिंटू उर्फ रमजान सिद्दीकी के पैर में गोली लगी वही मौके से दूसरा साथी उसका फरार हो गया।घायल बदमाश रायबरेली के कोतवाली नगर क्षेत्र के मटिहा का निवासी है और इसका काफी पुराना आपराधिक इतिहास भी है। घायल अवस्था मे आरोपी बदमाश को जिला अस्पताल में भर्ती करवाया गया है। बदमाश की माने तो उस पर कई आपराधिक मामले दर्ज है और उसने पुस्तक व्यवसाई की सुपाड़ी लेकर उस ओर गोलियां बरसाई थी।



पुलिस ने बताया पकड़े गए बदमाश का है लंबा चौड़ा आपराधिक इतिहास


 वही अपर पुलिस अधीक्षक विश्वजीत श्रीवास्तव ने बताया की दोनों बदमाश बीते दिनों पुस्तक व्यवसाय के ऊपर जानलेवा हमला किया था जिसने पुस्तक व्यवसाई को सुपाड़ी दी थी उसी के पास अपना बकाया पैसा लेने जा रहे थे तभी पुलिस व  एसओजी और बदमाशों के बीच मुठभेड़ हुई दोनों बदमाश इससे पहले लखनऊ और रायबरेली जनपद से जेल जा चुके थे। पकड़े गए घायल बदमाश के ऊपर अग्रिम कार्रवाई की जा रही हैं और भागे हुए दूसरे बदमाश की तलाश की जा रही है।

फेसबुक पेज को लाइक करना बिल्कुल न भूले